स्लॉट 45

Publishing time:2021-10-24 23:46:45

आईपीएल क्रिकेट मैच 2021 स्लॉट 45 188bet नियम,fun88 सहबद्ध,lovebet 2019 chardonnay,lovebet शुक्रवार बोनस,lovebet एस एंड पी,lovebetर्स,बैकारेट 420,बैकरेट लाइसेंसिंग कौशल,सर्वश्रेष्ठ पांच बाइक अड़चन रैक,बड़ा 0 पोकर,कैसीनो खेल ऑनलाइन असली पैसा,चैंपियंस लीग फुटबॉल रणनीति,क्रिकेट 508,क्रिकेट टी20 विश्व कप,ई-स्पोर्ट्स नो ब्रासील,फ़ुटबॉल 5 ए साइड,फुटबॉल x y z रिसीवर,एच स्पोर्ट्स कार,फुटबॉल सट्टेबाजी कैसे खेलें,क्या जर्मनी में लवबेट कानूनी है,जंगल रम्मी.कॉम प्रीमियम,लाइव कैसीनो एकाधिकार,लॉटरी यूरोमिलियन्स,लूडो निंजा गेम डाउनलोड,आधिकारिक ऑनलाइन कैसीनो,ऑनलाइन गेम अनुमान लगाओ कौन,ऑनलाइन रियल मनी टेक्सास होल्डम,परिधीय फुटबॉल सट्टेबाजी मंच,पोकर री,रूले ब्रांडी कीमत,रम्मी ३ के ३ सेट,रम्मीकल्चर लॉगिन,स्लॉट 100 बोनस,कक्षा 5 के लिए खेल जीके प्रश्न,सन सिटी ऑनलाइन,सबसे अच्छा फुटबॉल स्कोर नेटवर्क,यू-लवबेट,दुनिया में सबसे बड़ा चीनी बैकारेट कौन सा है,5000 बार अजीब बंदर,ऑनलाइन पैसे बनाएं rajasthani,क्रिकेट घोड़ा,गोवा सॉन्ग,तीन पत्ती सांगा,बरसात आज होगी कि नहीं,मछली पकड़ना खेल ,स्टेटस ऑफ वीमेन इन इंडिया, .बीसीसीआई को नयी आईपीएल टीमें से सात से 10 हजार करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

बीसीसीआई को नयी आईपीएल टीमें से सात से 10 हजार करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद

दुबई, 24 अक्टूबर (भाषा) भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को सोमवार से यहां इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की दो नयी टीमों की नीलामी प्रक्रिया शुरू होने के बाद प्रत्येक फ्रेंचाइजी से 7000 करोड़ रुपये से 10,000 करोड़ रुपये तक मिलने की उम्मीद है।

अभी हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि बीसीसीआई नीलामी की बोली का तकनीकी मूल्यांकन करने के बाद सोमवार को ही सफल बोली लगाने वालों की घोषणा करेगा या नहीं।

ऐसी 22 कंपनियां हैं, जिन्होंने 10 लाख रुपये के निविदा (टेंडर) दस्तावेज लिए हैं। नयी टीमों के लिए आधार मूल्य 2000 करोड़ रुपये रखा गया है। ऐसे में केवल पांच से छह गंभीर बोली लगाने वालों के होने की उम्मीद है।

बीसीसीआई फ्रेंचाइजी के लिए बोली लगाने के लिए तीन कंपनियों/व्यक्तियों के कॉन्सॉर्टियम (समूह) को भी अनुमति दे रहा है।

इस नीलामी में बोली लगाने वाले किसी व्यक्ति या कंपनी के मामले में, उस विशेष इकाई का वार्षिक कारोबार न्यूनतम 3,000 करोड़ रुपये होना चाहिए और कॉन्सॉर्टियम के मामले में तीनों संस्थाओं में प्रत्येक का वार्षिक कारोबार 2,500 करोड़ रुपये होना चाहिए।

ऐसे में भारत के सबसे अमीर लोगों में शामिल गौतम अडानी और उनके अडानी समूह से अहमदाबाद फ्रेंचाइजी के लिए बोली लगाने की उम्मीद है। अडानी समूह अगर बोली लगाता है तो उसके नयी फ्रेंचाइजी के मालिक बनने की संभावना अधिक होगी।

इसी तरह, अरबपति संजीव गोयनका के आरपीएसजी समूह को भी एक नयी फ्रेंचाइजी के लिए गंभीर बोली लगाने वाला माना जा रहा है। यह हालांकि अभी साफ नहीं है कि आरपीएसजी कॉन्सॉर्टियम के हिस्से के रूप में बोली लागायेगा या व्यक्तिगत तौर पर इसमें शामिल होगा ।

इस मामले की जानकारी रखने वाले बीसीसीआई के एक सूत्र ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘ गौतम अडानी और संजीव गोयनका भारतीय उद्योग में सबसे बड़े नाम हैं। वे गंभीर बोली लगाने वाले होंगे। संभावित बोली लगाने वालों से 3,500 करोड़ रुपये की न्यूनतम बोली की उम्मीद है। यह मत भूलिये कि आईपीएल प्रसारण अधिकार से लगभग पांच बिलियन डॉलर (36,000 करोड़ रुपये) मिलने का अनुमान है।’’

उन्होंने बताया, ‘‘ इसमें अर्थशास्त्र उसी के अनुसार काम करेगा क्योंकि फ्रेंचाइजी को टीवी राजस्व का हिस्सा समान रूप से मिलता है।’’

गोयनका दो साल के लिए पुणे फ्रेंचाइजी राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स (आरपीएस) के मालिक रहे हैं और वह आईएसएल (इंडियन सुपर लीग) फ्रेंचाइजी एटीके मोहन बागान के मालिक भी हैं।

ऐसी चर्चा है कि मैनचेस्टर यूनाइटेड के मालिक अवराम ग्लेजर के स्वामित्व वाले लांसर समूह ने भी बोली दस्तावेज लिया है।

इस दौड़ में कोटक समूह, फार्मास्युटिकल (दवा बनाने वाली कंपनी) प्रमुख अरबिंदो फार्मा और टोरेंट समूह शामिल हैं।

जहां तक शहरों का सवाल है तो अहमदाबाद और लखनऊ का दावा मजबूत नजर आ रहा है। अहमदाबाद के पास मोटेरा के नरेंद्र मोदी स्टेडियम की क्षमता 100,000 से अधिक है जबकि लखनऊ के इकाना स्टेडियम की क्षमता लगभग 70,000 है। इस दौड़ में हालांकि इंदौर, गुवाहाटी, कटक, धर्मशाला और पुणे जैसे बेहतर क्रिकेट स्टेडियम वाले शहर भी शामिल हैं।

इस बोली में भारत का एक पूर्व क्रिकेटर कॉन्सॉर्टियम में शामिल हो सकता हैं, जिसके नयी फ्रेंचाइजी के लिए गंभीरता से बोली लगाने की उम्मीद है।

सूत्र ने कहा, ‘‘हां, भारत का एक पूर्व सलामी बल्लेबाज लगभग 300 करोड़ रुपये खर्च करने और कॉन्सॉर्टियम में अल्प हिस्सेदारी खरीदने के लिए तैयार है। वह एक व्यापारिक परिवार से आते हैं और क्रिकेट टीम में निवेश करना चाहते हैं।’’

बीसीसीआई सूत्र ने कहा, ‘‘वह अपने आप में एक प्रतिष्ठित खिलाड़ी हैं और यह भी समझते हैं कि फ्रेंचाइजी कैसे काम करती है।’’

बॉलीवुड की जोड़ी दीपिका पादुकोण और रणबीर कपूर के कॉन्सॉर्टियम का हिस्सा होने के बारे में अभी कोई स्पष्ट जानकारी नहीं मिली है लेकिन वह किसी नयी फ्रेंचाइजी के अल्प हिस्सेदार या ब्रांड दूत हो सकते हैं।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

Lilly withered in India’s blooming diabetes market. Key deficiency: an India-specific sales pitch.
Pharma

Lilly withered in India’s blooming diabetes market. Key deficiency: an India-specific sales pitch.

9 mins read
Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
How Srei lenders hid potential related-party transactions by routing them through public trusts
Under the lens

How Srei lenders hid potential related-party transactions by routing them through public trusts

10 mins read
बीसीसीआई को नयी आईपीएल टीमें से सात से 10 हजार करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद

कोलकाता, 24 अक्टूबर (भाषा) पैनासोनिक इंडिया को त्योहारी सीजन के दौरान मांग अच्छी रहने की उम्मीद है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण अब नियंत्रण में है, ऐसे में त्योहारों के दौरान मांग मजबूत रहेगी। इसके अलावा कंपनी उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना के तहत कम्प्रेसर और हीट एक्सचेंजरों के विनिर्माण के लिए 300 करोड़ रुपये का निवेश करने की तैयारी कर रही है। पैनासोनिक इंडिया के चेयरमैन एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) मनीष शर्मा ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘जून-सितंबर की तिमाही में हमने पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 18 प्रतिशत की वृद्धिभारत में सरकार विपक्षी दलों और आलोचकों को परेशान करने के लिए नियमों का दुरुपयोग करती हैं। ट्रोलिंग, गालियां देना और सोशल मीडिया पर रेप या मारने की धमकी देना अब आम चलन हो गया है।सरकार ने नेताजी से जुड़े स्थानों को बढ़ावा देने की योजना तैयार की

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने व्यापार में सुगमता, निर्यात और रोजगार को बढ़ावा देकर भारतीय कपड़ा उद्योग को प्रोत्साहन देने के लिए संशोधित प्रौद्योगिकी उन्नयन कोष योजना (एटीयूएफएस) की समीक्षा की। कपड़ा मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी। कपड़ा मंत्री गोयल और कपड़ा राज्य मंत्री दर्शना जरदोश ने कपड़ा मंत्रालय द्वारा आयोजित पांचवीं अंतर मंत्रालयी संचालन समिति (आईएमएससी) की बैठक में विभिन्न मंत्रालयों, विभागों, कपड़ा उद्योग संघों और बैंकों के साथ योजना की समीक्षा की। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, "उन्होंने व्यापार में सुगमता, निर्यात और रोजगार को बढ़ावा देकर भारतीय कपड़ा उद्योग को प्रोत्साहननयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) भारत में अपने उत्पादों की श्रृंखला को मजबूत करते हुए अपोलो टायर्स लिमिटेड ने देश में यूरोपीय टायर ब्रांड व्रेडेस्टीन उतारा है। कंपनी का यह उत्पाद महंगी कारों तथा सुपरबाइक खंड की जरूरतों को पूरा करेगा। घरेलू टायर कंपनी की अगले दो साल में इस खंड में 30 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी हासिल करने की योजना है। व्रेडेस्टील श्रृंखला का उत्पादन स्थानीय स्तर पर शुरुआत में कंपनी के तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश संयंत्रों में किया जाएगा। कंपनी शुरुआत में इस ब्रांड की बिक्री ‘रिप्लेसमेंट’ बाजार में करेगी। बाद में कंपनीकतर से एलएनजी आयात अनुबंध के नवीकरण पर पुराने कार्गो की आपूर्ति की ‘शर्त’ रखेगा भारत

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) दोपहिया क्षेत्र की प्रमुख कंपनी होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया (एचएमएसआई) अगले वित्त वर्ष में अपना पहला इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) उतारने की तैयारी कर रही है। एचएमएसआई के अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) आत्सुशी ओगाता ने पीटीआई-भाषा से बातचीत में यह जानकारी दी। कंपनी देश में एक्टिवा और शाइन जैसे लोकप्रिय ब्रांड बेचती है। इस साल त्योहारी सीजन समाप्त होने के बाद कंपनी अपने डीलर भागीदारों से इलेक्ट्रिक स्कूटर की व्यवहार्यता के बारे में चर्चा शुरू करेगी। उन्होंने कहा कि एचएमएसआई ने अपनी मूल कंपनी जापान की होंडा मोटर कंपनीनयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) भारत में अपने उत्पादों की श्रृंखला को मजबूत करते हुए अपोलो टायर्स लिमिटेड ने देश में यूरोपीय टायर ब्रांड व्रेडेस्टीन उतारा है। कंपनी का यह उत्पाद महंगी कारों तथा सुपरबाइक खंड की जरूरतों को पूरा करेगा। घरेलू टायर कंपनी की अगले दो साल में इस खंड में 30 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी हासिल करने की योजना है। व्रेडेस्टील श्रृंखला का उत्पादन स्थानीय स्तर पर शुरुआत में कंपनी के तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश संयंत्रों में किया जाएगा। कंपनी शुरुआत में इस ब्रांड की बिक्री ‘रिप्लेसमेंट’ बाजार में करेगी। बाद में कंपनीपैनासोनिक को त्योहारों में बिक्री अच्छी रहने की उम्मीद, पीएलआई के तहत 300 करोड़ रु. का निवेश करेगी

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


लॉटरी वीडियो
खेल 620
शतरंज की वेबसाइट
स्पोर्ट्स बेटिंग रैंकिंग
विश्व फुटबॉल कप
यूरोपीय फ़ुटबॉल में कौन से मैच होते हैं
lovebet प्रोमो कोड
फुटबॉल नियम
स्पोर्ट्सबुक ग्रीकटाउन कैसीनो
फुटबॉल खेल
कैसीनो डैडी
पोकर उद्धरण
क्रिकेट टेस्ट मैच
लॉटरी परिणाम रात
शतरंज में npass
जेएन लॉटरी
उत्पत्ति कैसीनो संपर्क नंबर
रूले अपने दांव को दोगुना करते रहें
lovebet उद्धरण erklärung
lovebet ना जिवो
स्टेटस ज्ञान की बातें
स्पोर्ट्स 0एन टीवी आज
यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल यूईएफए कप अनुमान
फुटबॉल सुनील छेत्री
पोकर 5 कार्ड ड्रा नियम
तीन राज्यों का राजा
स्पोर्ट्स लोअर डिजाईन