बैकारेट क्रैकिंग इंस्ट्रूमेंट

बैकारेट क्रैकिंग इंस्ट्रूमेंट

time:2021-10-28 08:09:03 फोर्ड की कारें होंगी महंगी, जनवरी से बढ़ेंगे दाम Views:4591

कैसीनो लॉस एंजिल्स बैकारेट क्रैकिंग इंस्ट्रूमेंट betway इंडिया कांटेक्ट नंबर,fun88 चहचहाना,lovebet 50 से 1 इंग्लैंड,lovebet आईओएस,lovebet टिकट कोड चेकर,बैक वलहैला में 3 स्लॉट,बैकरेट बैंक गेम,बैकरेट खेलने की रणनीति,एंडोक्रिनोलॉजी और मधुमेह विज्ञान के लिए सर्वश्रेष्ठ पांच एमसीक्यू,एक लवबेट वाउचर खरीदें,कैसीनो पैसा,शतरंज मैं उसे बहुत अच्छी तरह से जानता हूँ गीत,क्रिकेट की किताबें लाइव स्कोर,क्रिकेटर डी मालनी,यूरोपीय कप फाइनल मकाऊ बॉल सेट,फुटबॉल सट्टेबाजी वेबसाइट नेविगेशन,गा पोकर नाइट्स,खुश किसान मांस बाजार,मैं एक सेलेब लवबेट हूं,जैकपॉट बिंगो गेम्स लेक्सिंगटन क्यो,लेडीबर्ड क्रिकेट बुक,लाइव फुटबॉल मैच,लॉटरी एमडी,m lovebetinr com रजिस्टर में,ऑनलाइन कैसीनो कैसुमो,ऑनलाइन गेम वीडियो,ऑनलाइन स्लॉट nz,पोकर 4 2 नियम,पोकर यारी,रूले क्वाड्रचींटियों,रम्मी गेम कैसे खेले,एस क्रिकेट लाइव आईपीएल,स्लॉट्स का हिंदी अर्थ,खेल संबंधी गतिविधियां जो मांसपेशियों को मजबूत करती हैं,तीन पत्ती राजा,baccarat में सबसे लंबी केबल,वर्चुअल क्रिकेट लीग 5 ओवर 2021,वाइल्डज़ वेरबंग गीत,OG ओरिएंटल रूम,करीना सॉन्ग,क्षत्रिय स्टेटस इन संस्कृत,जैकपॉट इंडिया लाटरी कॉम,पोकर online poker,बरसात स्टेटस,राजा बाइसन,स्टेटस बनाने का ऐप, .फोर्ड की कारें होंगी महंगी, जनवरी से बढ़ेंगे दाम

कीमतों में बढ़ोतरी 1 फीसदी से 3 फीसदी की रेंज में होगी. इस तरह दाम करीब 5,000 रुपये से लेकर 35,000 रुपये तक बढ़ जाएंगे.
नई दिल्‍ली : फोर्ड इंडिया की सभी कारें एक जनवरी से महंगी हो जाएंगी. कंपनी ने अपनी कारों के दाम बढ़ाने का एलान किया है. इनकी कीमतों में 3 फीसदी तक इजाफा होगा. बढ़ती इनपुट कॉस्‍ट को देखते हुए कंपनी ने यह फैसला किया है.

फोर्ड इंडिया के एग्‍जीक्‍यूटिव डायरेक्‍टर (मार्केटिंग सेल्‍स एंड सर्विस) विनय रैना ने कहा कि कीमतों में बढ़ोतरी 1 फीसदी से 3 फीसदी की रेंज में होगी. इस तरह दाम करीब 5,000 रुपये से लेकर 35,000 रुपये तक बढ़ जाएंगे. यह अलग-अलग मॉडलों पर निर्भर करेगा. उन्‍होंने बताया कि कच्‍चे माल की बढ़ती कीमतों के चलते दाम बढ़ाना जरूरी हो गया था.

इसे भी पढ़ें : ये हैं 8 नए फीचर वाले स्‍मार्टफोन, जानिए क्‍या हैं इनकी खूबियां

बुधवार को देश की सबसे बड़ी कार बनाने वाली कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने भी अपनी कारों के दाम बढ़ाने का एलान किया था. कीमतों में यह बढ़ोतरी जनवरी से लागू होगी. उसने भी मूल्‍यवृद्धि के पीछे बढ़ती इनपुट कॉस्‍ट का हवाला दिया था.

इसे भी पढ़ें : एयर प्यूरिफायर खरीदने से पहले इन 6 बातों का रखें ध्‍यान, होगा फायदा

कंपनी ने कहा था कि पिछले एक साल में इनपुट कॉस्‍ट बढ़ी है. इसका असर उसके वाहनों पर पड़ा है. इस चुनौती से निपटने के लिए कीमतों में बढ़ोतरी जरूरी हो गई थी. जनवरी 2021 से वह यह फैसला अमल में ले आएगी.

मारुति सुजुकी ने यह भी बताया था कि विभिन्‍न मॉडलों के दामों में अलग-अलग बढ़ोतरी होगी. हालांकि, उसने इसका कोई ब्‍योरा नहीं दिया था.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

फोर्ड इंड‍िया की कारें महंगी होंगीजनवरीमारुति सुजुकीइनपुट कॉस्‍टकीमतों में बढ़ोतरी

ETPrime stories of the day

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read
As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

12 mins read

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.पिछले सप्ताह फोर्ड इंडिया ने एक जनवरी से अपने विभिन्न मॉडलों की कीमतों में बढ़ोतरी की घोषणा की थी.ओला-ऊबर नहीं वसूल सकेंगे ज्यादा किराया, सरकार ने जारी कीं नई गाइलाइंस

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.ऑडी इंडिया ने इस साल घरेलू बाजार में क्यू8, ए8 एल, आरएस 7 स्पोर्टबैक, आरएस क्यू8, क्यू8 सेलिब्रेशन और क्यू2 मॉडल पेश किए हैं.म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी ने कहा कि वह व्हॉट्सएप पर एक नया शॉपिंग बटन पेश कर रही है जिससे लोगों को बिजनेस कैटलॉग खोजने में आसानी होगी.सक्रिय रूप से मैनेज किए जाने वाले लार्ज कैप म्‍यूचुअल फंड के तौर-तरीकों का पिछले कुछ सालों में सभी को पता लग गया है. कुछ को छोड़ ज्यादातर स्कीमों ने प्रमुख सूचकांकों से कमतर प्रदर्शन किया है.दिवाली से पहले धनतेरस में सिक्कों और हल्के आभूषणों की बिक्री बढ़ी

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
लॉटरी मणिपुर

बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.

फुटबॉल मैच मंच

यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.

यूरोपीय फुटबॉल चैनल कार्यक्रम अनुसूची

निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.

फुटबॉल पर 10 लाइन

शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.

क्रिकेट क्षेत्ररक्षण नियम

फ्रेंकलिन टेंपलटन के इंडियन मैनेजमेंट ने घरेलू कारोबार के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई थी.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी